Thursday, August 14, 2014

मोदी के भाषण की 10 खास बातें

मोदी के भाषण की 10 खास बातें

Aajtak.in [Edited By: विकास त्रिवेदी] | नई दिल्ली, 15 अगस्त 2014 | अपडेटेड: 09:52 IST




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी की 68वीं वर्षगांठ पर लालकिले की प्राचीर से तिरंगा फहराकर देश को संबोधित किया. मोदी के भाषण में देश के विकास को लेकर कुछ खास बातों और योजनाओं का जिक्र रहा. यहां पढ़िए प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की 10 महत्वपूर्ण बातें.

मेरा क्या, मुझे क्या फायदा- 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज किसी भी काम कराने के लिए किसी के पास जाइए तो वो पहला सवाल यही पूछता है, इससे मुझे क्या फायदा होगा, इसके होने से मेरा क्या फायदा ?. मोदी ने इस सोच को गलत ठहराते हुए कहा कि हमें इस सोच से आगे बढ़कर यह सोचना होगा कि हमारे कुछ करने से किसी को फायदा होना चाहिए.

कम एंड मेक इन इंडिया- 

मोदी ने विश्व के बाकी देशों को भारत में आकर काम करने का निमंत्रण दिया. मोदी ने कहा, विश्व के सभी देश भारत आकर काम करें. हम मिलकर काम करेंगे और बेहतर विश्व के निर्माण की तरफ आगे बढ़ेंगे.

सांसद आदर्श ग्राम योजना-प्रधानमंत्री मोदी ने सांसद ग्राम योजना के जरिए देश के सांसदों से अपनी पसंद का एक गांव चुनकर उसे आदर्श गांव बनाए जाने की अपील की. मोदी ने कहा, प्रत्येक सांसद एक गांव को 2016 तक आदर्श गांव बनाने के लिए काम करे और 2019 तक 2 गांवों को आदर्श गांव बनाने का सराहनीय काम करने के बाद चुनावों में पहुंचे.

प्रधानमंत्री जन धन योजना- 

प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले से प्रधानमंत्री जन धन योजना शुरू करने की बात कही. इस योजना के तहत देश के प्रत्येक नागरिक का बैंक अकाउंट खोले जाने की बात कही गई. मोदी ने कहा, इस योजना के जरिए देश के सभी गरीब लोगों का बैंक अंकाउट खोला जाएगा. इसके साथ ही अकाउंट खोलने वालों के लिए एक लाख रुपये का बीमा भी किया जाएगा. जिसे जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जा सकेगा.

ई-गवर्नेंस, ईजी गवर्नेंस- 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने पहले से ई-गवर्नेंस के नारे में नए शब्द जोड़ते हुए कहा कि अब हमें ई-गवर्नेंस की तरह ईजी गवर्नेंस पर काम करना होगा. ई-गवर्नेंस के माध्यम से गुड गवर्नेंस हासिल की जा सकती है. हम टूरिज्म को बढ़ावा देना चाहते हैं.

डिजिटल इंडिया- 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, हमें डिजिटल इंडिया का सपना देखना चाहिए. देश के दूर-दराज गांवों में भी डिस्टेंस एजुकेशन, टेलीमेडिसिन, मोबाइल से ज्यादातर काम करें. अगर हमें यह करना है तो हमें डिजिटल इंडिया की तरफ आगे बढ़ना होगा. डिजिटल इंडिया से हम देश के खजाने को भर सकते हैं.

स्किल डेवलपमेंट-

मोदी ने कहा, मैं देश में ऐसे नौजवान तैयार करना चाहता हूं जो जॉब क्रिएटर हों, जो जॉब क्रिएटर नहीं हैं वे ऐसे हों कि दुनिया की आंखों में आंखें डालकर देख सकें. अगर हमें नौजवानों को तैयार करना है तो हमें निर्माण क्षेत्र पर भी ध्यान देना होगा.

जीरो डिफेक्ट जीरो इफेक्ट- मोदी ने निर्माण क्षेत्र के विकास पर जोर देते हुए कहा, हमें बेहतर निर्माण इस फॉर्मूले के साथ करना है कि हमारे देश में जिस उत्पाद का निर्माण हुआ हो उसमें कोई कमी न हो. निर्माण से किसी को कोई नुकसान नहीं हो. हमें निर्माण में गुणवत्ता भी बनाए रखनी होगी.

योजना आयोग खत्म होगा- 

मोदी ने कहा, देश में ऐसी व्यवस्था का विकास करना मेरा सपना होगा.जिसके बाद योजना आयोग की जरूरत नहीं रह जाएगी. इसके लिए हमें मिलकर काम करना होगा. मोदी ने कहा, हम बहुत जल्दी देश में योजना आयोग की जगह नई सोच और नए विश्वास के साथ नई संस्था का निर्माण करेंगे.

स्कूलों में बेटियों के लिए शौचालय- 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, देश में महिलाओं को शौच के लिए बाहर खुले में जाना पड़ता है. इससे शर्मनाक कुछ नहीं है. हमारी कोशिश रहेगी कि स्कूल में छात्राओं के लिए अलग शौचालय का निर्माण किया जाए. मोदी ने कॉर्पोरेट सेक्टर से सीएसआर के जरिए इस काम में सहयोग करने की अपील की.

No comments:

Post a Comment

अधार्मिक विकास से शहर बन रहे है नरक

जीता-जागता नरक बनता जा रहा है गुरुग्राम: स्टडी गुरुग्राम गुरुग्राम में तेजी से हो रहे शहरीकरण और संसाधनों के दोहन को लेकर एक स्टडी ...