Monday, February 25, 2013

सोशल मीडिया पर एक जुट होने से देश में फर्क


भारतीय युवा वर्ग के सोशल मीडिया पर पिछले तीन साल से एक जुट होने से देश में क्या फर्क देखने को मिला है ?
1 - देश में कही भी कोई भी घटना हो जल्द ही इन्टरनेट के जरिये सब को मालूम हो जाती है.
2 - सरकार एवं कार्यपालिका की काली करतूतों का सभी को पता चल रहा है.
3 - देश के खिलाफ साजिश करने वालो को बुरी तरह से नंगा किया जाता है.
4 - कसाब जैसे को फ़ासी युवाओ की एक जुटता से हुई.
5 - ओवैसी जैसे के खिलाफ कार्यवाही युवाओ की वजह से हुई.
6 - अफजल को फ़ासी का एक श्रेय युवाओ को भी जाता है.
7 मोदी जी के खिलाफ गलत धारना रखने वालो की सोच बदली है.
8 बिकाऊ मीडिया का सच सब के सामने आ रहा है.
9 भारतीय इतिहास का सच सब को पता चल रहा है, जिसे सरकार ने अपने अनुसार बदला है.
10. कालेधन, देश और संस्कृति के लिए काम करने वाले बाबा रामदेव औरबालकृष्ण जैसे लोगो के प्रति सरकारी रवैया, भ्रष्टाचार के प्रति जाग्रति पैदा हुई है.
11. आज ज्यादातर युवा देशद्रोही लोगो के, चाहे वो सरकार में हो या उसके बहार, विरुद्ध एक जुट नजर आ रहा है
सभी युवाओं से यही निवेदन है इस सोशल मीडिया से आई क्रान्ति को यही न रुकने दें, इसे जारी रखें जबतक समाज में व्याप्त गंदगी का सफाया न हो जाए..

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...