Sunday, October 13, 2013

मानवाधिकारवादियों, गांधीवादियों, सुधारवादियों की "घनघोर जीत"...


मानवाधिकारवादियों, गांधीवादियों, सुधारवादियों की "घनघोर जीत"...

दिल्ली दुष्कर्म का दोषी "नाबालिग"(????) मोहम्मद अफरोज अपने सुधार गृह(?) में चकाचक मस्ती छानते हुए... 

==============
इस बलात्कारी का न्याय यदि मेरे वश में होता, तो मैं इसके पिछवाड़े पर इतने डंडे बरसाता कि न इससे उठते बनता और न बैठते...

मैं गांधीवादी नहीं हूँ... इसका मुझे कतई अफ़सोस नहीं है...
.

No comments:

Post a Comment

अधार्मिक विकास से शहर बन रहे है नरक

जीता-जागता नरक बनता जा रहा है गुरुग्राम: स्टडी गुरुग्राम गुरुग्राम में तेजी से हो रहे शहरीकरण और संसाधनों के दोहन को लेकर एक स्टडी ...