Monday, August 12, 2013

J.D.U. के प्रवक्ता के सी त्यागी



आज राज्यसभा में कश्मीर के किश्तवाड़ में हुए दंगे पर बहस चल रही थी ,,,
J.D.U. के प्रवक्ता के सी त्यागी ने राज्यसभा में किश्तवाड़ दंगे के सन्दर्भ में जो कुछ भी कहा ,,उसमे कहा की इस दंगे में जो मरे उनसे ज्यादा महत्वपूर्ण वो ८०००० नौजवान हैं जो पिछले अनेक सालों में घाटी से गायब हुए (उन्होंने ये नहीं बताया की ये लोग आतंकवादी बन गए ,,,सेना से मुठभेड़ में मरे ,,या पकिस्तान ट्रेनिंग लेने गए ),,,उन्होंने घाटी से निकाले गए ३ लाख पंडितों के बारे में कुछ नहीं कहा ,,,उनके धूर्ततापूर्ण वक्तव्य जिनमें कश्मीर के अलगाववादियों का पक्ष लिया गया,,,,, उसे देशद्रोह न कहे तो क्या कहें ????आप स्वयं ये भाषण सुने और बताएं की क्या मेरा आकलन गलत है ?????…उन्हें इस बात की फ़िक्र थी की कोई धारा ३७० को हटाने की सोचे भी नहीं ,,उन्होंने कहा की जब तक कश्मीर पर बनी विशेष समिति की सिफारिशें नहीं मानी जायेंगी ,,तब तक किश्तवाड़ जैसी घटनाएं होती रहेंगी ,,,और विशेष वार्ताकारों की उस समिति के अनेक सुझावों में ये खतरनाक सुझाव शामिल हैं ---- 1953 में दी गई स्वायतत्ता में हस्तक्षेप करने वाले केन्द्रीय कानूनों को वापस लिया जाए और इसके लिए संवैधानिक समिति का गठन हो। - नियंत्रण रेखा के आरपार लोगों, वस्तुओं व सेवाओं की आवाजाही की खुली छूट मिले। - सेना व अर्द्धसैनिक बलों की संख्या घटाई जाए और उन्हें मिले विशेषाधिकार वापस लिए जाएं।

No comments:

Post a Comment

अधार्मिक विकास से शहर बन रहे है नरक

जीता-जागता नरक बनता जा रहा है गुरुग्राम: स्टडी गुरुग्राम गुरुग्राम में तेजी से हो रहे शहरीकरण और संसाधनों के दोहन को लेकर एक स्टडी ...