Sunday, July 7, 2013

2500 करोड़ से 200 करोड़ फिर 200 करोड़ से 10 करोड़



उडी बाबा इ का 2500 करोड़ से 200 करोड़ फिर 200 करोड़ से 10 करोड़ बना दिया जादू है रे बाबा ..सच में कमाल का जादू है रे बाबा चार चार ट्रको में बोरिया भर भर कर नोट और ज्वेलरी बरामद हुए दो-दो दिन नोट गिनने की मशीने लगी रही और फिर कमाल हो गया 2500 करोड़ 10 करोड़ में बदल गये ..शायद हमारे देश की सरकार और मिडिया दोनों ही देश के नागरिको को अव्वल दर्जे का बेवकूफ समझती है ..सोचिये 10 करोड़ ले जाने के लिए चार चार ट्रको की जरुरत नहीं पड़ेगी 10 करोड़ होता कितना है कुछ बैग्स में आ जाता और 10 करोड़ को मशीन से गिनने में दो दिन नहीं लगते ठीक है ...जादू तो दिखा ही दिया आपने

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...