Thursday, July 11, 2013

सुभाषचंद बोष की भविष्यवाणी

नेता जी सुभाषचंद बोष की भविष्यवाणी की सटीकटा और देश के वर्तमान हालात ....!!!

आज नेताजी प्रकाशन मंदिर शाहदरा दिल्ली से प्रकाशित हीरालाल दीक्षित की बर्ष 1969 में लिखी पुस्तक '''कांग्रेस की शव परीक्षा और नेता जी के आने की प्रतीक्षा '' पढ़ने का अवसर मिला ... जिसमे कांग्रेस के काले , भ्रष्ट और देशद्रोही तथा गद्दार किस्म के कारनामो को पढ़ का मन और दिल दहल उठा की ये कांग्रेसी आजादी के बाद से ही अपने स्वार्थो को पूरा करने के लिये किस तरह देश को खोखला करने के साथ नुकसान पहुंचाते रहे है ................ खैर वाकी चर्चा फिर कभी आप सब के लिये प्रस्तुत है इस पुस्तक के पेज संख्या 31 पर नेता जी द्वारा भारत के बारे में की गयी भविष्यवाणी जो उन्होंने काबुल से जाते समय उत्तमचंद मल्होत्रा के प्रश्नों के जवाब में कही थी ....!

'' भारतवर्ष की एक नहीं हजारों वीमारियाँ है | इस देश की तान ही नहीं टूट चुकी है तानी भी टूट चुकी है | यदि भारत में प्रजातंत्र ,जम्हूरियत या डेमोक्रेसी कायम हुई तो दो -दो रुपये में एक -एक वोट विकेगा और व्हिस्की एक एक पैग पर अफसर विकेगा | देश का राष्ट्रीय चरित्र इतना गिर जाएगा की दफ्तर में काम करने बाला बाबू भी एक दूसरे से रिश्बत लिये बिना एक दूसरे का काम नहीं करेगा ...सुभाष ने बहुत गंभीर मुद्रा में कहा था "" India needs a man like Aattaruk Camal Pasa for 20 years'' अर्थात भारत को अतार्तुक कमाल पाशा जैसे डिक्टेटर की बीस वर्ष के लिये आवयश्कता है ''''


सुभाष चंद बोष का उपरोक्त कथन भारत के वर्तमान माहौल में कितना सार्थक और सटीक है ..इस पर आप सभी के विचार सादर आमंत्रित |

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...