Thursday, July 11, 2013

क्योकि हम सेकुलर है

9 साल 322 छोटे बड़े आतंकी और नक्सली हमले ,
1 हज़ार से ज्यादा घुसपैठ की घटनाये , 310
भारतीय सैनिक वीरगति को प्राप्त , 400 से
ज्यादा सीआरपीएस के जवान वीर
गति को प्राप्त ,
190 कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मी वीर
गति को प्राप्त ,
1722 आम नागरिकों की हत्या (आधिकारिक
मौत) ,
खरबों रुँपये की सरकारी संपत्ति बर्बाद , केवल
2
आतंकियों को फांसी ( कोई
भरोसा नहीं की फांसी दी भी या नहीं ) ,
322 छोटे
बड़े आतंकी और नक्सली हमले हर बार
प्रधानमंत्री का एक ही ब्यान :- ऐसे हमले
बर्दाश
नहीं किये जायेगे ||
हो रहा भारत निर्माण ... भारत के इस
निर्माण पर
हक़ है मेरा ||
गर्व से कहो हम इन्डियन है |
गर्व से कहो हम सेकुलर देश है |
गर्व से कहो हम सेकुलर है |
गर्व से कहो हम नहीं सुधरेगे ...............
अब जागने के लिए नहीं कहूंगा .... अब सिर्फ
यही कहूँगा मर जाओ सूअर के
बच्चो कंही गन्दी नाली में जाकर ,
क्योकि मरना तो है
ही तुमको आने वाले दिनों में अपने अमन पसंद
भाइयों के हाथो |
हम तो लड़ कर मरेगे क्योकि हम सेकुलर नहीं है

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...