Tuesday, March 11, 2014

जी न्यूज़ के इस रंग परिवर्तन

जी न्यूज़ के इस रंग परिवर्तन का एक ही कारण है जिंदल से दुश्मनी !!!

इसके "रंगपरिवर्तन" का कोई दूसरा कारण नहीं है !
इसीलिए जी न्यूज़ के इस क्षणिक रंगपरिवर्तन का मज़ा लें ! ज़ी न्यूज़ या किसी भी दूसरे मीडिया घराने पर विश्वास करना बहुत बड़ी भूल होगी !!

क्योंकि जो मीडिया चैनल वाले अपने बाप के मरने की खबर भी अपनी माँ से पैसे लेकर दिखाते है वो मीडिया वाले राष्ट्र के लिए हितकारी न्यूज़ अपनी स्वेच्छा से बिलकुल नहीं चला सकता !!

इसलिए दुश्मन का दुश्मन अपना दोस्त वाली नीति ही अपनाएं ...
-----------------------------------------------------------------------------------
पोस्ट मे "रंगपरिवर्तन" इसलिए लिखा है क्योंकि मीडिया के कॉर्पोरेट घरानों का दिल सिर्फ पैसों के लिए ही धड़कता है !! तो इनका रंगपरिवर्तन ही हो सकता है हृदयपरिवर्तन नहीं 

No comments:

Post a Comment

अधार्मिक विकास से शहर बन रहे है नरक

जीता-जागता नरक बनता जा रहा है गुरुग्राम: स्टडी गुरुग्राम गुरुग्राम में तेजी से हो रहे शहरीकरण और संसाधनों के दोहन को लेकर एक स्टडी ...