Thursday, January 2, 2014

साहब हम भिखारी है

साहब हम भिखारी है.....

1 . हमें मुफ्त वाला पानी चाहिए...
2 . हमें मुफ्त लॅपटॉप चाहिए...
3 .हमें मुफ्त खाना चाहिए...
4 . हमें मुफ्त बिजली चाहिए...
5 . सब कुछ हमें मुफ्त में चाहिए...

हमें कोई फर्क नहीं पढता फिर चाहे

1 . हमें रोजगार न मिले (वैसे भी आप सब कुछ हमें मुफ्त में दे रहे हो तो रोजगार कि क्या जरुरत )
2 . चाहे कोई हमारे सैनिको के सर काटकर ले जाए.....
3 . चाहे कोई कश्मीर पाकिस्तान को दे दे......
4 . फिर चाहे रोज हमारी बहू, बेटियो का बलात्कार हो.....
5 . फिर चाहे महंगाई से गरीब कि कमर टूट जाए......
6 . चाहे चीन हमारी जमीन छीन ले जाए....

माई-बाप बस सब कुछ मुफ्त में दे दो, फिर हमारे साथ जो करना है कर लो...
(धीरे धीरे हरामखोर होते जा रहे कुछ भारतीयों की सोच)...

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...