Friday, January 3, 2014

एम.जे. अकबर





रोज रात को 8 और 9 बजे सूटबूट टाई में सजधज के न्यूजचैनलों पर नरेन्द्र मोदी विरोधी कांग्रेस प्रायोजित मजलिस करने वाले 90% एंकरों/पत्रकारों/संपादकों की जितनी उम्र होगी उतना लम्बी पत्रकारिता का अनुभव एम.जे. अकबर का है और उनकी पहचान नरेन्द्र मोदी के प्रशंसक के बजाय आलोचक की है. इसमें अंतर मात्र इतना है कि ये पहचान पेड/प्रायोजित और पूर्वाग्रही आलोचक.


No comments:

Post a Comment

अधार्मिक विकास से शहर बन रहे है नरक

जीता-जागता नरक बनता जा रहा है गुरुग्राम: स्टडी गुरुग्राम गुरुग्राम में तेजी से हो रहे शहरीकरण और संसाधनों के दोहन को लेकर एक स्टडी ...