Monday, January 20, 2014

केजरीवाल के एक ओर झूठ की पोल

युगांडा उच्चायोग ने केजरीवाल को चिट्ठी लिखने का दावा खारिज किया

 
email
email
Uganda contradicts AAP, denies writing letter for help on trafficking of women
नई दिल्ली: युगांडा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दावे को खारिज करते हुए कहा कि उसने उन्हें कोई चिट्ठी नहीं लिखी है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने सोमवार को कहा, 'युगांडा के उच्चायोग ने पुष्टि की है कि उन्होंने दिल्ली सरकार के किसी भी व्यक्ति को कोई चिट्ठी नहीं लिखी है।'

इससे पहले, दिल्ली के चार पुलिसकर्मियों के निलंबन की मांग को लेकर धरने पर बैठे केजरीवाल ने कहा था कि युगांडा उच्चायोग की महिला प्रतिनिधि ने दिल्ली के कानून मंत्री सोमनाथ भारती को पत्र लिख कर देह व्यापार और मादक पदार्थो के तस्करों के खिलाफ कार्रवाई के लिए उनका आभार जताया है।

केजरीवाल ने युगांडा उच्चायोग की महिला प्रतिनिधि की लिखी कथित चिट्ठी को हवा में लहराकर दिखते हुए कहा था, 'उन्होंने शुक्रवार को हमें कार्रवाई के लिए शुक्रिया कहा है। उन्होंने कहा कि युगांडा से कई महिलाओं को काम देने के नाम पर लाया जाता है और उन्हें देह व्यापार में झोंक दिया जाता है।'

दरअसल, पिछले दिनों एक छापे के दौरान केजरीवाल सरकार के मंत्री और पुलिस के बीच विवाद के बाद पुलिस और दिल्ली सरकार के बीच तनातनी की स्थिति बनी हुई है। केजरीवाल आरोपी पुलिसवालों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं, जबकि पुलिस का कहना है कि मंत्री सोमनाथ भारती ने उनके काम में हस्तक्षेप किया। दिल्ली के खिड़की एक्सटेंशन इलाके में दिल्ली सरकार के कानून मंत्री सोमनाथ भारती के छापे के बाद यह मामला गरमाया था।

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...