Saturday, January 4, 2014

"आप" के समर्थकों के लिए केजरीवाल की सच्चाई...

"आप" के समर्थकों के लिए केजरीवाल की सच्चाई...

1. केजरीवाल इतने विनम्र हैं कि एक अपने सिवा सारी दुनिया को चोर बताते फिरते हैं मगर वही चोर अगर कांग्रेस, बीजेपी या कोई अन्य पार्टी छोड़ कर उनके पार्टी में आ जाये तो अपने स्टील वाले ग्लास से मंत्रित जल छिड़क कर उसे शुद्ध कर देते हैं !! धन्य है केजरी बाबू की ऐसी विन्रमता !!

2. स्व-घोषित इमानदारों को तो मुजफ्फरनगर वाले दंगे में भी मोदी और आरएसएस का हाथ दिखा था और बकायदा उन्होने इसे अपने वेबसाइट पर भी डाला था मगर जैसे ही आज तक ने बताया कि दंगा तो आजम खान ने करवाया था तुरंत वो पोस्ट गायब हो गयी !! सलाम है ऐसी स्व-घोषित इमानदारी को !!

3. केजरीवाल इतने बड़े प्रजातांत्रिक कि अपने गुरू की इच्छा के विरुद्ध और उनके आंदोलन का फायदा ले कर अपनी पार्टी बनायी और मोदी इतने बड़े तानाशाह कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता ने मिल कर बकायदा वोट कर उन्हें प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बनाया !!

4. मोदी ने अपने दम पर भाजपा को 3 राज्यों में काफी ज्यादा बहुमत से जीत दिलायी और दिल्ली में भाजपा को सबसे ज्यादा सीट दिलाया मगर केजरीवाल जिस कांग्रेस का विरोध कर रहा था उसी की गोद में बैठ कर सरकार बना लिया !!

5. मोदी केजरीवाल की तरह दोगले तो हैं नहीं कि जिस पार्टी ने उसे इतना आगे बढ़ाया और जिस आरएसएस को उन्होंने गुरू माना उसे धोखा दे कर अपनी पार्टी बनायें !! ये काम तो सिर्फ आपके केजरीवाल ही कर सकते हैं !!

6. कुछ मुर्ख सोचते हैं कि हिंदू बुद्धिजीवी नहीं होते तो इस बेवकूफी पर तो सिर्फ हंसा ही जा सकता है !!
वैसे आपकी जानकारी के लिये बता दूँ कि इस बार जब गुजरात में चुनाव हुये थे तो मोदी ने सारी मुस्लिम बहुल्य सीटें जीती थी !!

7. केजरीवाल के सच का नमूना तो उसी दिन देखने को मिल गया था जब वो तौकीर रजा से मिलने गया था और बाद में मीडिया के सामने आने पर बोला था कि मुझे उसके बारे में कुछ भी पता नहीं था !!

8. जिस इंसान का NGO फोर्ड नामक विदेशी कंपनी के दम पर चल रहा हो और जो जिंदल जैसे लोगों से चंदा लेता हो उसके बारे में ऐसा बोलना कि उसने कॉरपोरेट्स की नींव हिला दी काफी ज्यादा हास्यपद है !!

9. अगर मोदी से एक वर्ग और सीधे शब्दों मे कहें तो मुस्लिम भयभीत है तो आज वो उन्हें वोट नहीं देता मगर जैसे सावन के अंधे को जिसे सब हरा-हरा ही दिखता हो उसे कौन समझाये !!

10. पता कीजिए कि मोदी ने कहाँ तक पढ़ाई है और अपनी शिक्षा का इस्तेमाल कर गुजरात का कैसा विकास किया है !!

11. मैट्रो से याद आया - आपके मैट्रो से चलने वाले केजरीवाल जी घर से नीली वैगन आर से निकले !! मेट्रो में बैठे और बाराखम्भा स्टेशन पर उतरे !! उनका ड्राइवर खाली कार चलाते हुए बाराखंबा स्टेशन तक आया !! फिर केजरीवाल जी अपनी नीली वैगन आर में बैठे और रामलीला मैदान गये !! हा हा हा !!
अरे यार फिर मेट्रो वाली नौटंकी करने की क्या जरूरत थी ?? घर से सीधे अपने कार में ही रामलीला मैदान चले जाते तो क्या बिगड़ जाता ??

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...