Saturday, June 1, 2013

क्या कोई शेखुलर या बुद्धूजीवी मेरे इन प्रश्नो के उत्तर दे सकता है???

क्या कोई शेखुलर या बुद्धूजीवी मेरे इन प्रश्नो के उत्तर दे सकता है???

1. जो जीता वही चंद्रगुप्त ना होकर... जो जीता वही सिकन्दर"""कैसे"""" हो गया... ???
(जबकि ये बात सभी जानते हैं कि.... सिकंदर की सेना ने चन्द्रगुप्त मौर्य के प्रभाव को देखते हुये ही लड़ने से मना कर दिया था.. बहुत ही बुरी तरह मनोबल टूट गया था.... जिस कारण , सिकंदर ने मित्रता के तौर पर अपने सेनापति सेल्युकश कि बेटी की शादी चन्द्रगुप्त से की थी)

2. महाराणा प्रताप ""महान""" ना होकर......... अकबर """महान""" कैसे हो गया...???
(जबकि, अकबर अपने हरम में हजारों लड़कियों को रखैल के तौर पर रखता था.... यहाँ तक कि उसने अपनी बेटियो और बहनो की शादी तक पर प्रतिबँध लगा दिया था जबकि.. महाराणा प्रताप ने..... अकेले दम पर उस अकबर के लाखों की सेना को घुटनों पर ला दिया था)

3. सवाई जय सिंह को """महान वास्तुप्रिय""" राजा ना कहकर..........शाहजहाँ को यह उपाधि किस आधार मिली ...... ???
जबकि... साक्ष्य बताते हैं कि.... जयपुर के हवा महल से लेकर तेजोमहालय {ताजमहल} तक .... महाराजा जय सिंह ने ही बनवाया था)

4. जो स्थान महान मराठा क्षत्रिय वीर शिवाजी को मिलना चाहिये वो.......... क्रूर और आतंकी औरंगजेब को क्यों और कैसे मिल गया ..????

5. स्वामी विवेकानंद और आचार्य चाणक्य की जगह... ..... गांधी को महात्मा बोलकर .... हिंदुस्तान पर क्यों थोप दिया गया...??????

6. तेजोमहालय- ताजमहल...........लालकोट- लाल किला...........फतेहपुर सीकरी का देव महल- बुलन्द दरवाजा........ एवं सुप्रसिद्घ गणितज्ञ वराह मिहिर की मिहिरावली(महरौली) स्थित वेधशाला- कुतुबमीनार.....­......... क्यों और कैसे हो गया....?????

7. यहाँ तक कि..... राष्ट्रीय गान भी..... संस्कृत के वन्दे मातरम की जगह................. गुलामी का प्रतीक""जन-गण-मन हो गया""..... कैसे और क्यों हो गया....??????

8. और तो और.... हमारे अराध्य ... भगवान् राम.. कृष्ण.............. तो इतिहास से कहाँ और कब गायब हो गये......... पता ही नहीं चला..........आखिर कैसे ????

9. यहाँ तक कि.... हमारे अराध्य भगवान राम की जन्मभूमि पावन अयोध्या .... भी कब और कैसे विवादित बना दी गयी... हमें पता तक नहीं चला....!

कहने का मतलब ये है कि..... हमारे दुश्मन सिर्फ.... बाबर , गजनवी , लंगड़ा तैमूरलंग..... या आज के दढ़ियल मुल्ले ही नहीं हैं...... बल्कि आज के सफेदपोश सेक्यूलर भी हमारे उतने ही बड़े दुश्मन हैं.... जिन्होंने हम हिन्दुओं के अन्दर हीन भावना भर ..... हिन्दुओं को सेक्यूलर नामक नपुंसक बनाने का बीड़ा उठा रखा है.....!

No comments:

Post a Comment

शंकराचार्य और सरसंघचालक एक_तुलनात्मक_अध्ययन

वरिष्ठ आईपीएस चाचाजी  श्री Suvrat Tripathi की कलम से। #शंकराचार्य_और_सरसंघचालक_एक_तुलनात्मक_अध्ययन सनातन धर्म की वर्णाश्रम व्यवस्था के ...